नशे से आजादी पखवारा: नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो का जागरूकता अभियान

Uncategorized

पटना: 24 जून 2022 :: ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के अंतर्गत नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, गृह मंत्रालय, भारत सरकार के द्वारा देश भर में ‘आजादी संकल्प वर्ष-2022-23’ मनाया जा रहा है। इसके तहत ‘नशे से आजादी पखवारा'(12 से 26 जून 22) का आयोजन कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, क्षेत्रिय कार्यालय पटना के द्वारा भी बिहार-झारखंड में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।
नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, पटना के द्वारा नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ “अंतर्राष्ट्रीय दिवस- ​​26 जून” के मद्देनजर आयोजित “नशे से आजादी पखवारा” के दौरान जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन जारी है। 17 जून को प्रभात फेरी का आयोजन गांधी मैदान, पटना में किया गया, जिसमें एनसीबी, ईओयू, एसएसबी और स्कूली छात्रों ने भाग लिया। मोनिका ए. बत्रा, आईआरएस, डीडीजी, पूर्वी क्षेत्र, एनसीबी ने प्रभात फेरी को झंडी दिखाकर रवाना किया।
वहीं, बिहार राज्य के पटना, वैशाली, गया, औरंगाबाद, आरा, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण और पश्चिमी चंपारण आदि जिलों में नशीली दवाओं के दुरुपयोग के खिलाफ बच्चों, युवाओं आदि के लिए संदेश के साथ – साथ जागरूकता वाहन नियमित रूप से चलाया जा रहा है। साथ ही ललित कला अकादमी, पटना में दिनांक 25और 26 जून को जागरूकता प्रदर्शनी आयोजित की जा रही है।जबकि 26 जून तक एंटी ड्रग अभियान चल रहा है।नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा बिहार और झारखंड में विशिष्ट स्थानों पर नशीली दवाओं के प्रति जागरूकता पैम्फलेट का वितरण, पोस्टर/फ्लेक्स बैनर आदि लगाया जा रहा है।
बिहार और झारखंड में दूरसंचार सेवा प्रदाताओं (टीएसपी) के माध्यम से भी नशीली दवाओं के प्रति जागरूकता संदेशों/एसएमएस को फ्लैश किया जा रहा है।पटना रेलवे स्टेशन पर सूचना कियोस्क के माध्यम से नशीली दवाओं के प्रति जागरूकता संदेशों/वीडियो का प्रदर्शन जारी है। बच्चों को नशे की चपेट में आने से बचाने के उद्देश्य से स्कूलों/प्रशिक्षण केन्द्रों में भी जागरूकता अभियान चल रहा है । प्रख्यात हस्तियों के ऑडियो/वीडियो संदेश सोशल मीडिया के माध्यम से प्रसारित किए जा रहे हैं। पखवाड़ा के दौरान प्रतिदिन बच्चों, पुलिसकर्मियों, युवाओं, छात्रों आदि के बीच नशा विरोधी शपथ दिलाई जा रही है।
एनसीबी पटना क्षेत्र, क्षेत्रीय निदेशक मनीष कुमार के नेतृत्व में एनसीबी पटना पूरे वर्ष नशीले पदार्थों की तस्करी के खिलाफ कार्रवाई करता रहा है। श्री कुमार ने बताया कि वर्ष 2020 में, एनसीबी पटना क्षेत्रिय इकाई की जब्ती और गिरफ्तारी का आंकड़ा क्रमशः 6,580 किलोग्राम और 90 गिरफ्तारी था, जो वर्ष 2021 में जब्ती के साथ 16,040 किलोग्राम और 129 गिरफ्तारी के साथ रहा। चालू वर्ष में, आंकड़े जब्ती 4460 किलोग्राम हुआ और 37 गिरफ्तारियां हुई। वर्ष 2020 में एनसीबी पटना क्षेत्रीय इकाई की अफीम की अवैध खेती के विनाश का आंकड़ा 2309 एकड़ था, जो वर्ष 2021 में 2585 एकड़ और चालू वर्ष में 3250 एकड़ रहा है।
क्षेत्रीय निदेशक, एनसीबी, पटना ने आम जनता से नशीले पदार्थों के दुरुपयोग के खिलाफ शपथ लेने का आह्वान किया है और नशीली दवाओं के दुरुपयोग के खिलाफ इस लड़ाई को “जन जागरण” में बदलने के लिए अधिकतम प्रसार और प्रचार के लिए भी आग्रह किया है। इसके अलावा, उन्होंने युवाओं से खुद को नशे से दूर रहने और स्वस्थ रहने तथा राष्ट्र निर्माण में अपनी रचनात्मक ऊर्जा को शामिल करने का आह्वान किया है।
नशीली दवाओं के दुरुपयोग या अवैध तस्करी के बारे में जानकारी ईमेल pzu-ncb@nic.in और टेलीफोन नंबर के 0612-2565160 के माध्यम से दिया जा सकता है। प्रेषक की पहचान गुप्त रखी जाती है और कुछ गुणवत्ता/कार्रवाई योग्य जानकारी के मामले में प्रेषक को कुछ नकद पुरस्कार भी दिए जाते हैं।
क्षेत्रीय निदेशक मनीष कुमार ने नशे से मुक्ति के लिए इलाज में देर न करने की सलाह दी है। वे बताते हैं कि अस्पताल या नशामुक्ति केंद्र या गैर सरकारी संगठन जो इस क्षेत्र में काम कर रहे हैं,उससे तुरंत संपर्क करना चाहिए।
संयुक्त राष्ट्र महासभा ने दिसंबर 1987 में 26 जून को “नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय दिवस” ​​के रूप में मनाने का फैसला किया, जो एक अंतर्राष्ट्रीय समाज के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कार्रवाई और सहयोग को मजबूत करने के अपने दृढ़ संकल्प की अभिव्यक्ति के रूप में है।
नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, गृह मंत्रालय, सरकार भारत देश में ड्रग कानून प्रवर्तन के लिए नोडल एजेंसी है। इस ब्यूरो की अपनी क्षेत्रीय इकाई पटना में है, जिसका अधिकार क्षेत्र संपूर्ण बिहार और झारखंड है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *